Skip to content

ac buying guide in Hindi| एसी खरीदते समय रखे इन बातों का ध्यान।

ac-buying-guide-in-Hindi-एसी-खरीदते-समय-रखे-इन-बातों-का-ध्यान

गर्मियों के मौसम के आते ही एसी डिमांड बढ़ जाती है, इस साल गर्मी में अगर आप एक नए एसी की तलाश में है। और बाजार में मौजूद तरह तरह के ढेरो एसी को देख के उलझन में है की कौन सा एसी ख़रीदा जाए तो हमारा ये ac buying guide in Hindi आपकी पूरी मदद करने वाला है।

AC खरीदते समय निचे दिए इन 5 बातो का ख्याल रखे :

  1. आपको किस प्रकार के AC की जरूरत है जिसे आप हमारे AC के प्रकार में विस्तार से पढ़ सकते है
  2. AC की कैपेसिटी
  3. AC की स्टार रेटिंग
  4. इंस्टालेशन और मेंटेनेंस चार्ज
  5. नए फीचर्स और एडवांस टेक्नोलॉजी

एसी के बारे में और बाते करने से पहले आइये जरा पहले एसी को ठीक से जानते है।

एसी के प्रकार | types of ac

एसी मुख्यत तीन प्रकार के है जो है :
1. window एसी
2. split एसी
3. portable एसी

1. window एसी

हम सभी इस ac से भली भांति बाक़िफ़ है हो भी क्यों ना ये ac, ac के शुरुआती मॉडल्स में से एक है। जैसा की इस के नाम से ही मालूम हो रहा है की ये window यानि हमारे घर की खिड़कियों पे ही लगाया जा सकता है। जिसके अपने फायदे कम और नुकसान ज्यादा है, जैसे की ये छोटे कमरों के लिए ही उपयुक्त है। साथ ही ये आवाज बहुत तेज करती है अगर आप उन लोगो में से है जिन्हे शोर से ज्यादा दिक्कत नहीं है तो आप इसे खरीद सकते है।

हालांकि विंडो ac splipt ac के मुकाबले काफी सस्ती और इंस्टॉल करने में भी काफी आसान है। window ac को घर की खिड़कियों पे इस तरह इनस्टॉल किया जाता है की आधा ac कमरे के अंदर होता है जिसे हम इनडोर यूनिट भी कह सकते है, और बाकि का आधा हिस्सा खिड़की के बाहर होता है जिसे आउटडोर यूनिट कहा जा सकता है।

आउटडोर यूनिट बाहर के गर्म हवा को खींच के कन्डेंस गैस और और अन्य उपकरण जैसे  Compressor, Condenser, Valves, Evaporator की मदद से ठंडा करके कमरे के वातावरण को ठंडा करता है जिसे आप निचे के तस्वीर में देख सकते है।

2. split एसी

स्प्लिट ac में इनडोर और आउटडोर यूनिट को दो भागो में बांटा गया है। जिससे ये काफी एफ्फिसेंट और शोर न के बराबर करने वाला एक ac बन जाता है। स्प्लिट ac को बड़े कमरों और मल्टीप्ल कमरों को ठंडा रखने के लिए उपयोग में लाया जाता है। अब यहाँ मन में एक सवाल आता है की हमें कैसे पता लगेगा की कितने बड़े कमरे के लिए कितने बड़े ac की जरुरत होती है, यहाँ कॉन्सेप्ट आता है टन (ton) का जिसे हम निचे डिटेल में जानेंगे।

जैसा हमने ऊपर विंडो ac में जाना की आउटडोर यूनिट इनडोर के साथ ही होता है, लेकिन स्प्लिट में ऐसी कोई बाध्यता नहीं है चाहे तो आप इसके आउटडोर यूनिट को छत पे लगाए या दीवाल पे बस इसे एक पाइप से इनडोर यूनिट के साथ जोड़ना पड़ता है और आपका ac कूलिंग के लिए तैयार हो जायेगा।

स्प्लिट ac भी आजकल दो तरह के उपलब्ध है।
Non-inverter split ac
inverter split ac

inverter split ac दिखने में Non-inverter split ac के जैसे ही होते है , inverter split ac का मुख्य उद्देश्य बिजली खपत को कम करना है, और ये अपने variable speed compressor और ढेरो मॉडिफिकेशन की मदद से करता भी है , साथ ही ये कुछ खास तरह के फीचर्स के साथ आते है जैसे की डीह्यूमिडीफायर, स्लीप मोड, एंटी-बैक्टीरिया फिल्टर, ऑटो-क्लीन फंक्शन।

read also: 2021 के 8 बेस्ट मोबाइल अंडर 10000 रुपये

3. portable एसी

अगर आप किराये के घर में रहते है और बिना इंस्टालेशन के झंझट के ac का लुफ्त उठाना चाहते है तो portable एसी आपके लिए बेहतरीन विकल्प है। ये कूलर की तरह प्लग एंड प्ले टाइप है, बीएस आपको इसके साथ दिए गए होस पाइप को किसी भी खिड़की या वेंटिलेशन से अटैच्ड करना है और आपका ac चालू।

हलाकि ये बहुत ही छोटे जगह के लिए परफेक्ट है, लेकिन आने वाले समय के साथ इसमें इम्प्रूवमेंट की काफी सम्भावनाये है। साथ ही ये एक नए जनरेशन का ac है और बाजार में कम उपलब्ध होने के कारण महंगा है।

Feature( फीचर )

Window AC

Split AC

Portable AC

पावर सेविंग 

कम 

बेहतर 

ठीक ठाक 

कूलिंग 

कम 

बेहतर 

कम 

आवाज 

ज्यादा 

कम 

ज्यादा 

इंस्टालेशन 

आसान 

मुश्किल 

आसान 

प्राइस 

सस्ता 

महंगा 

महंगा 

एसी के प्रकार को जानने के बाद आइये अब सबसे महत्त्वपूर्ण AC की कैपेसिटी को समझते है।

AC की कैपेसिटी

ऊपर हमने कमरे के साइज के अनुसार AC चुनने की बात की है, लेकिन हमारे मन में सवाल आता है की अगर हम कमरे के साइज से बड़ा AC लेते है तो क्या होगा या अगर कमरे के साइज से छोटा AC लेते है तो क्या होगा ?

अगर हम कमरे की साइज से बड़ा AC लेते है तो वो जल्द ही कमरे को ठंडा कर तो देगा लेकिन जितनी बड़ा शरीर होता है खुराक भी ज्यादा लगती है, यानि की बिजली की खपत भी ज्यादा होगी।

वही अगर हम कमरे के साइज से छोटा AC लेते है तो उसे कमरे को ठंडा रखने में ज्यादा मस्सकत करनी पड़ेगी इस मामले में भी ज्यादा बिजली खपत होती है। इसी से बचने के लिए हमें AC की कैपेसिटी पे ध्यान देना चाहिए।

इंडिया में हम AC की कैपेसिटी को TON में मापते है, आइये इसे एक टेबल की मदद से समझते है:

कमरे का साइज AC की कैपेसिटी (TON)
0 to 80 Sq Ft 0.75 tons
80 to 120 Sq Ft 1 ton
120 to 190 Sq Ft 1.5 ton
190 to 300 Sq Ft 2 ton

अगर अभी भी आप कन्फ्यूज्ड है कमरे की साइज को लेके तो आप एक बार रिटेलर जहाँ से आप AC खीरदने वाले है उनसे भी सलाह ले सकते है। जिससे आपको न सिर्फ सही AC लेने में मदद करता है बल्कि आपको बिजली के खर्चे से भी बचाएगा,

बिजली के खर्चे से अब आप कहोगे की अगर AC की कैपेसिटी पर ही बिजली की खपत निर्भर करता है तो ये 1 स्टार 2 स्टार AC क्या बला है ? आइये इसे भी जानते है

read also: बेस्ट लैपटॉप अंडर 40000 रुपए ( best laptop under 40000 in hindi )

कितने स्टार का AC ले ?

हमारे देश में सभी तरह के बिजली पे चलने वाले उपकरणों के स्टार रेटिंग के पीछे  Indian seasonal energy efficiency ratio (ISEER) है। और ये बात भी सच है की जितना ज्यादा स्टार उतनी बिजली की बचत , लेकिन यहाँ भी एक प्रॉब्लम ये है की जैसे जैसे स्टार बढ़ेंगे वैसे वैसे उसके दाम बढ़ते जाते है।

लेकिन इससे बचने का भी एक उपाय है और वो है आप अपने उपयोग के अनुसार AC और और उसके स्टार को सेलेक्ट करे जैसे की अगर आप दिन में सिर्फ 6 से 8 घंटे ही AC का उपयोग करने वाले है तो कम स्टार के AC से भी आपका काम चल सकता है।

स्टार से आप सालाना कितनी बचत करते है उसको समझने के लिए निचे दिए तस्वीर को ध्यान से देखे।

ac buying guide in Hindi| एसी खरीदते समय रखे इन बातों का ध्यान।
सोर्स:beeindia.gov.in

इंस्टालेशन और मेंटेनेंस

AC लेते समय ऊपर बताये गए चीजों के अलावा भी ढेरो ऐसी बाते है जिन्हे ध्यान में रखने की जरुरत होती है उनमे से मेन है इनका इंस्टालेशन और मेंटेनेंस का खर्च, कई कंपनी के प्रोडक्ट ऐसे है जो शुरुआत में लेते समय आपको सस्ता दिखेंगी लेकि उनका छुपा हुआ इंस्टालेशन और मेंटेनेंस का खर्च आपकी जेब पर भारी पर सकता है।

नए फीचर्स और एडवांस टेक्नोलॉजी

AC लेते समय ये भी ध्यान रखे की आप जिस ब्रांड का AC ले रहे है वो आपको क्या नया और एडवांस फीचर दे रहा है, हालाँकि ये समय के साथ अपडेट होती रहती है लेकिन ये भी आपको पता होना चाहिए की आपकी जरुरत कितनी है क्योकि अधिक फीचर्स की चाहत आपके जेब पे भारी भी पड़ सकती है।

ये है हमारे 5 नियम जिन्हे आप अपना कर अपने पसंद और बजट का AC खरीद सकते है, उम्मीद करता हु की आपको हमारा ये ac buying guide in Hindi ना सिर्फ पसंद आया होगा साथ आपके उलझनों को भी दूर करने में कामयाब रहा, सुझाव और अपने प्रश्नो के उत्तर के लिए कमेंट जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.